ATM में कैश जमा करने के नाम पर उड़ाए 1.17 करोड़ रुपये, ऐसे चुराए थे पैसे

54

दिल्ली से सटे नोएडा थाना 24 की पुलिस ने बड़ी कामयाबी हासिल की है. पुलिस ने दो अभियुक्तों को गिरफ्तार कर 19 लाख रुपए की बरामदगी भी की है. दरअसल, नोएडा थाना 24 की पुलिस ने शनिवार की रात लगभग 11 बजे राजन और शंकर झा नाम के शख्स को सेक्टर 11 के वीडियोकॉन चौराहे से गिरफ्तार किया है.

इनका एक साथी अभी पुलिस की गिरफ्त से फरार है. ये अभियुक्त नोएडा में लॉजिकैश सैल्युशन प्रा.लि. के सेक्टर 11 स्थित ब्रांच में कास्टेडियम ऑफिसर हैं. कंपनी द्वारा इन्हें बैंकों के एटीएम मशीन के कोडवर्ड और पासवर्ड कंपनी की तरफ से दिया जाते थे और ये एटीएम में पैसा जमा करते थे. उसी दौरान कोडवर्ड और पासवर्ड का मिसयूज करके 1 करोड़ 17 लाख की हेरा-फेरी की थी. इसे लेकर कंपनी ने इनके खिलाफ मुकद्दमा दर्ज कराया था.

दोनों अपराधी नोएडा के सेक्टर 11 में स्थित लॉजिकैश सैल्युशन प्रा.लि. ब्रांच में कास्टेडियम ऑफिसर के रूप में कार्यरत थे. दरअसल, कंपनी द्वारा इन्हें बैंकों के एटीएम के पासवर्ड और कोडवर्ड दिए जाते थे. इसकी मदद से ये एटीएम में हर रोज करोड़ों का कैश जमा करने का काम करते थे. ज्यादा कैश देख इनकी नियत बिगड़ने लगी और तीनों साथी राजन भारद्वाज, शंकर कुमार झा, और अजीत सिंह ने मिलकर एटीएम की मशीन को जम्पिंग/डी कोड कराकर बड़ी ही सतर्कता से हर बार 2 से 4 लाख रुपये की हेरा-फेरी कर आपस में बांट लेते थे.

इसके बाद मशीन डी कोड व जम्प होने के बाद दो या चार लाख कैश छोड़ देती थी और इनके द्वारा लोड किया गया पूरा कैश शो करती थी. इसलिए इनके द्वारा की गई धोखाधड़ी पकड़ में नहीं आती थी. मशीन द्वारा जम्प करने पर छोड़े गए कैश को ये आपस में बांट लेते थे. जिसके कारण बात बाहर नहीं आती थी.

पुलिस की माने तो इन्होंने कंपनी के साथ इस तरह 1 करोड़ 17 लाख की धोखाधड़ी की थी. फिलहाल पुलिस ने राजन भारद्वाज और शंकर कुमार झा को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि इनका एक साथी अजीत अभी पुलिस की गिरफ्त से फरार है. पुलिस फरार आरोपी की लगातार तलाश कर रही है. वहीं, पुलिस ने इनके पास से 19 लाख 75 हजार रुपए बरामद किए हैं. साथ ही आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि कुछ पैसे खर्च हो गए हैं और कुछ अजीत के पास हैं. फिलहाल पुलिस ने इन दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया है.

courtesy…aajtak