US में राजनीतिक संकट: देश को ‘शट डाउन’ से कैसे बचाएंगे ट्रंप, जानें- पूरा मामला

50

वाशिंगटन [ जागरण स्‍पेशल ]। अमेरिका में राजनीतिक गतिरोध चरम पर पहुंच गया है। इसके चलते अमेरिका एक बार फिर आर्थिक शट डाउन की दहलीज पर खड़ा है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के पदभार संभालने के बाद यह तीसरा मौका है, जब दुनिया का सबसे शक्तिशाली और समृद्ध देश इस स्थिति में पहुंचा है। हालांकि, ट्रंप ने सरकारी खर्च के बिल पर हस्‍ताक्षर कर दिए हैं, जिससे अमेरिका में शट डाउन मामला थोड़े समय के लिए टल गया है।

 हाल में अमेरिका में हुए मध्यावधि चुनाव में कांग्रेस के निचले सदन यानी प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेट की बड़ी जीत के बाद यह कयास लगाए जा रहे थे कि राष्ट्रपति ट्रंप के लिए अब बड़ी मुश्किलें खड़ी हो सकती है। दरअसल, इस चुनाव के बाद प्रतिनिधि सभा में डेमोक्रेट बहुमत में आ गए और रिपब्लिकन पार्टी का वर्चस्‍व टूट गया। चुनाव के इन परिणामों के साथ यह तय हो गया था कि अब ट्रंप को कई मामलों में डेमोक्रेट के विरोध का समाना करना पड़ सकता है। अमेरिका में जिस तरह से आव्रजन नियमों में संशोधनों को लेकर डेमोक्रेट ने ब्रेक लगाया है, उससे अमेरिका में एक नया संकट खड़ा हो गया है। आव्रजन नियमों में संशोधनों के तहत ही ट्रंप प्रशासन की मैक्सिको सीमा पर दीवार निर्माण की योजना है। इसलिए ट्रंप ने कांग्रेस द्वारा मैक्सिको सीमा पर दीवार निर्माण के लिए पर्याप्त रकम न देने पर मजबूरन आंशिक सरकारी शट डाउन कराने की चेतावनी दी है। इसके लिए उन्‍होंने डेमोक्रेटिक पार्टी को जिम्‍मेदार ठहराया है।

गतिरोध: क्‍या है मामला

आव्रजन नियमों में संशोधनों को लेककर कांग्रेस के नीचले सदन में ट्रंप और डेमोक्रेट के बीच रस्‍साकसी का खेल चल रहा है। डेमोक्रेट के अड़ि‍यल रूख के चलते अमेरिकी राष्ट्रपति ने संकेत दिया कि अगर वो आव्रजन नियमों में संशोधनों का समर्थन नहीं करते तो वे संघीय सरकार के शट डाउन की अनुमति दे देंगे। इसके लिए एक सप्‍ताह का वक्‍त दिया गया था। समय सीमा निर्धारित होने के बाद कांग्रेस में दोनों राजनीतिक दलों के बीच संघर्ष तेज हो गया है। बता दें कि रिपब्लिकन सदस्यों की तरफ से लाया गया आव्रजन बिल पिछले हफ्ते संसद से मंजूरी नहीं पा सका था। इसमें ट्रंप ने मैक्सिको के साथ लगती अमेरिका की दक्षिणी सीमा पर दीवार बनाने के लिए 25 अरब डॉलर मांगे थे। इसके बाद ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, अगर डेमोक्रेट मुझे सीमा सुरक्षा के लिए वोट नहीं देते, जिसमें दीवार बनाने का मामला भी शामिल है, तो मैं सरकार के शट डाउन के लिए तैयार हूं।

फौरी राहत: सरकारी खर्च के लिए विधेयक 197 के मुकाबले 230 मतों से पारित

इससे पहले गत गुरुवार रात प्रतिनिधि सभा के सदस्यों ने फरवरी तक के सरकारी खर्च के लिए विधेयक को 197 के मुकाबले 230 मतों से पारित कर दिया था। अधिकारियों ने कहा कि अब एक लाख से ज्यादा सक्रिय सैन्यकर्मी अपनी सेवाएं जारी रखेंगे, लेकिन ‘कामबंदी’ समाप्त होने तक उन्हें भुगतान नहीं किया जा सकता। व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने कहा कि ट्रंप ने इस संकट के कारण अपनी रिजॉर्ट यात्रा की योजना रद कर दी है। ट्रंप ने पहली बार शटडाउन के समय ट्विटर पर लिखा था, वे हमारी महान सेना या अत्यंत खतरनाक दक्षिणी सीमा की सुरक्षा के लिए अच्छा नहीं सोच रहे। डेमोक्रेट कर कटौती की बड़ी सफलता को बेकार करने में मदद के लिए यह कामबंदी चाहते हैं। दरअसल, अमेरिका में सीनेट की ओर से सरकारी खर्चे का बिल खारिज हो गया है, जिसकी वजह से ट्रंप सरकार के पहले साल के कार्यकाल में ही कामकाज बंद हो गया है. इस बिल को पक्ष और विपक्ष के बीच तनातनी को लेकर मंजूरी नहीं मिल पाई। इसके बाद से यहां राजन‍ीतिक संघर्ष तेज हो गया है।

सभी सरकारी महकमे 21 दिसंबर तक खुले रहेंगे

ट्रंप ने संघीय सरकार के वित्‍त पोषण बढ़ाने, देश को आंशिक शटडाउन से बचाने और प्रस्तावित सीमा दीवार पर अपेक्षित लड़ाई को टालने के लिए सरकारी खर्च विधेयक को मंजूरी दे दी हैं। इससे होमलैंड सिक्योरिटी डिपार्टमेंट और कई अन्य सरकारी एजेंसियां 21 दिसंबर तक खुली रहेंगी।

क्‍या है एंटी-डिफिशिएंसी ऐक्ट यानी शट डाउन

  • अमेरिका में एंटी-डिफिशिएंसी ऐक्ट के तहत देश में पैसे को लेकर कोई दिक्कत होने पर संघीय कर्मचारियों को छुट्टी पर भेज  दिया जाता है। इसे शट-डाउन कहा जाता है। यदि सरकार शट-डाउन की घोषणा करती है तब इस  दौरान कर्मचारियों को काम पर आने के लिए मना किया जाता है। उन्हें सैलरी भी नहीं दी जाती है। साथ ही ऐसे में सरकार को संघीय बजट पास करना होता है।
  • इस स्थिति में अमेरिकी सरकार संघीय बजट लाती है, जिसे प्रतिनिधि सभा और सीनेट, दोनों में पारित कराना जरूरी होता है। मौजूदा हालात में ऐसा अनुमान है कि आठ लाख से ज्यादा संघीय कर्मचारी गैरहाजिर रहेंगे। केवल आपाताकालीन सेवाएं ही खुली रहेंगी। मसलन- सुरक्षा, पुलिस विभाग, अस्‍पताल आदि-आदि।
  • अमेरिका में पांच वर्ष में दूसरी बार शटडाउन होने के संकेत हैं। इसके पूर्व 2013 में शटडाउन की स्थिति पैदा हुई थी। यह शटडाउन करीब 16 दिनों तक चला था। उस वक्‍त अमेरिका के राष्‍ट्रपति बराक ओबामा थे। अब तक अमरीका में 1976 के बाद से 18 बार काम बंदी या शटडाउन हो चुका है। बताया जा रहा है कि इस बार यह शटडाउन जल्दी खत्म नहीं होगा, क्योंकि दोनों पार्टिया विधेयक को लेकर अपनी मांग पर अड़ी है।

मध्यावधि चुनावों में विपक्षी डेमोक्रेट का दबदबा

अमेरिका में हुए महत्वपूर्ण मध्यावधि चुनावों में विपक्षी डेमोक्रेट ने कांग्रेस के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अपना नियंत्रण कायम कर लिया था। ये चुनावी नतीजे  राष्ट्रपति ट्रंप के लिए एक बड़ा झटका था। इस चुनाव के बाद 435 सीटों वाले प्र‍तिनिधि सभा में डेमोक्रेट का बहुमत हो गया। इसके बाद से ही डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से संकेत मिलने लगे थे ट्रंप के लिए और कठिन स्थिति बन सकती है। खासकर आव्रजन, कर और स्वास्थ्य देखभाल सुधारों समेत उनके अहम मुद्दों पर व्यापक विधाई परिवर्तन चाहते हैं। हालांकि, इस चुनाव में सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी की जीत हुई थी।

Courtesy…NaiDunia