भारत-ऑस्ट्रेलिया के बीच मैच कल से, पहली बार बॉक्सिंग-डे टेस्ट जीतने पर टीम इंडिया की नजर

58

मेलबर्न. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैच की सीरीज का तीसरा टेस्ट 26 जनवरी से यहां खेला जाएगा। चूंकि यह टेस्ट क्रिसमस के अगले दिन शुरू होगा इसलिए बॉक्सिंग-डे टेस्ट कहलाएगा। भारत ने ऑस्ट्रेलिया में अब तक सात बार बॉक्सिंग-डे टेस्ट खेले हैं, लेकिन एक भी जीत नहीं पाया है। उसे पांच में हार मिली, जबकि दो मुकाबले ड्रॉ रहे हैं। ऐसे में विराट की अगुआई में यहां खेलने उतर रही टीम इंडिया की नजर पहली बार बॉक्सिंग-डे टेस्ट जीतने पर होगी। भारत ने आखिरी बार बॉक्सिंग-डे टेस्ट 2014 में खेला था। वह मुकाबला ड्रॉ रहा था।

 

बॉक्सिंग-डे टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया का सक्सेस रेट 57%
ऑस्ट्रेलिया ने पहली बार 1950 में बॉक्सिंग-डे टेस्ट खेला था। तब उसने इंग्लैंड को 28 रन से हराया था। तब से अब तक वह 42 बॉक्सिंग-डे टेस्ट खेल चुका है। इसमें उसने 24 जीते और आठ हारे हैं। 10 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं। उसने इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, वेस्टइंडीज, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, भारत और  श्रीलंका के खिलाफ बॉक्सिंग-डे टेस्ट खेले हैं। इसमें इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका और वेस्टइंडीज ही उसे हरा पाए हैं। इंग्लैंड ने चार, जबकि दक्षिण अफ्रीका-वेस्टइंडीज ने 2-2 बार बॉक्सिंग-डे टेस्ट जीते हैं।
बॉक्स में उपहार रखकर बांटने के कारण बॉक्सिंग-डे

बॉक्सिंग-डे टेस्ट का मुक्केबाजी से नहीं, बल्कि बॉक्स (डिब्बे) से संबंध है। ईसाई बहुल देशों में क्रिसमस (25 दिसंबर) के अगले दिन बॉक्स में उपहार रखकर बांटने की परंपरा है। इस कारण यह दिन बॉक्सिंग डे कहलाता है। यही वजह है कि ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका और न्यूजीलैंड में 26 दिसंबर से होने वाले मैच को बॉक्सिंग डे टेस्ट कहते हैं।

 

भारत के पास 40 साल बाद बढ़त लेने का मौका
सीरीज के दो मैच में दोनों टीमें एक-एक जीत के साथ बराबरी पर हैं। भारत यदि मेलबर्न टेस्ट जीत जाता है तो वह ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज में 40 साल बाद 2-1 की बढ़त बनाने में सफल होगा। इससे पहले टीम इंडिया ने 1977-78 में हुई सीरीज में 2-1 की बढ़त हासिल की थी। हालांकि, उस सीरीज में बाद में भारत को ऑस्ट्रेलिया के हाथों 3-2 से हार झेलनी पड़ी थी।
इस साल टेस्ट में भारत का सक्सेस रेट 46%
भारत ने इस साल अब तक 13 टेस्ट खेले हैं। इनमें से उसने छह जीते और सात गंवाए हैं। उसने विदेश में इस साल 10 टेस्ट खेले, जिनमें सिर्फ तीन जीतने में सफल रहा। सात में उसे हार का सामना करना पड़ा। उसने घरेलू जमीन पर तीन टेस्ट खेले, तीनों ही जीते। मेलबर्न में भारतीय टीम अब तक 12 टेस्ट खेल चुकी है, लेकिन सिर्फ दो को ही जीतने में सफल हुई है, जबकि आठ में उसे हार का सामना करना पड़ा है।

 

इस साल टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया का सक्सेस रेट 33%
ऑस्ट्रेलिया ने इस साल नौ टेस्ट खेले। इनमें से उसने तीन जीते और पांच हारे। एक मुकाबला ड्रॉ रहा। उसने घरेलू मैदान पर तीन टेस्ट खेले, जिनमें से दो जीते और एक हारा है। वहीं, विदेशी धरती पर उसने छह टेस्ट खेले। इसमें उसने एक जीता, चार हारे और एक ड्रॉ कराया। मेलबर्न में इस साल उसका यह पहला टेस्ट है। इस मैदान पर उसने अब तक 110 टेस्ट खेले हैं। इनमें उसने 63 जीते और 30 हारे हैं। 17 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं।

 

दोनों टीमें इस प्रकार हैं 

भारत : विराट कोहली (कप्तान), मुरली विजय, लोकेश राहुल, रोहित शर्मा, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत, हार्दिक पंड्या, रवींद्र जडेजा, मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा और जसप्रीत बुमराह।

ऑस्ट्रेलिया : टिम पैन, मार्क्स हैरिस, एरॉन फिंच, उस्मान ख्वाजा, शॉन मार्श, मिशेल मॉर्श, ट्रैविस हेड, टिम पैन, पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क, नाथन लियोन, पीटर हैंड्सकॉम्ब, जोश हेजलवुड।

Courtesy…Bhaskar