हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए है, कश्मीरियों के खिलाफ नहींः मोदी

59

टोंक। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को अपने राजस्थान दौरे के तहत टोंक पहुंचे। यहां उन्होंने विजय संकल्प रैली को संबोधित भी किया। इस दौरान प्रधानमंत्री ने पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए अपने भाषण की शुरुआत की और कहा कि हमारी सेना ने हमले के 100 घंटे के भीतर इसके दोषियों को उनके अंजाम तक पहुंचा दिया इसका मुझे गर्व है।

पीएम ने अपना संबोधन शुरू करते हुए कहा कि टोंक और सवाई माधोपुर की धरती से सबसे पहले मैं पुलवामा में बलिदान देने वाले वीर शहीदों को नमन करता हूं। मैं इन वीर सपूतों को जन्म देने वाली माताओं और उनके पूरे परिवार को कृतज्ञ राष्ट्र की तरफ से फिर से अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं।

पीएम ने पुलवामा हमले के बाद कश्मीरियों पर हो रहे हमलों की निंदा की और कहा कि हमारी लड़ाई आतंकवाद के खिलाफ है। मानवता के दुश्मनों के लिखाफ है। हमारी लड़ाई कश्मीर के लिए है, कश्मीरियों के खिलाफ नहीं है। आज प्रत्येक हिंदुस्तानी देश की सेना के साथ है, देश की भावनाओं के साथ है। लेकिन मुझे मुट्ठी भर उन लोगों पर अफसोस होता है, जो भारत में रहते हुए पाकिस्तान की भाषा बोल रहे हैं।

पीएम ने कहा कि मुझे अपने वीर जवानों पर गर्व है जिन्होंने 100 घंटे के भीतर ही अपने साथियों पर हुए हमले के एक बड़े गुनहगार को वहां पहुंचा दिया, जहां उसकी जगह है। दुनिया की हर बड़ी संस्था आज पुलवामा में हुए आतंकी हमले के खिलाफ एकजुट है। सीमा पर डटे सैनिकों पर, मोदी सरकार पर और मां भवानी के आशीर्वाद पर भरोसा रखिए, इस बार सबका हिसाब पूरा होगा।पीएम ने कहा कि आपका ये प्रधानसेवक दुनियाभर में आतंकियों का दाना पानी बंद करने में जुटा है। दुनिया में तब तक शांति संभव नहीं है, जब तक आतंक की फैक्ट्रियां चलती रहेंगी। आतंक की फैक्ट्रियों पर ताला लगाने का काम मेरे ही हिस्से लिखा है, तो ऐसा ही सही। ये बदला हुआ हिंदुस्तान है, ये दर्द सरकार चुपचाप नहीं सहेगी, ये दर्द सहकर हम चुपचाप नहीं बैठेंगे, हम आतंक को कुचलना भी जानते हैं। ये नई रीति और नई नीति वाला भारत है।

Courtesy: NaiDunia