Lok Sabha Elections 2019: पीएम की तस्वीरें हटाने में देरी पर चुनाव आयोग पहुंची कांग्रेस

52

नई दिल्ली (ब्यूरो)। कांग्रेस ने चुनाव आयोग से देशभर के पेट्रोल पंपों, रेलवे स्टेशनों और एयरपोर्टों पर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकारी प्रचार से जुड़ी तस्वीरें तत्काल हटाने में हो रही देरी की शिकायत की है। प्रधानमंत्री की तस्वीरों से जुड़े होर्डिंग्स को सरकारी धन के जरिये राजनीतिक प्रचार करार देते हुए कांग्रेस ने आयोग से यह मांग की। चुनाव आयोग ने इस शिकायत पर कार्रवाई का भरोसा देते हुए कहा कि इन प्रचार तस्वीरों को हटाने का काम शुरू हो गया है।

कांग्रेस कार्यसमिति के सदस्य आरपीएन सिंह की अगुआई में पार्टी नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने शुक्रवार को चुनाव आयोग में जाकर यह शिकायत की। प्रधानमंत्री की देशभर में लगी इन तस्वीरों को लेकर कांग्रेस ने 10 मार्च को ही अपनी शिकायत चुनाव आयोग को भेज दी थी। चुनाव आचार संहिता भी इसी दिन से लागू हो चुकी है। चुनाव आयोग से मुलाकात के बाद आरपीएन सिंह ने कहा कि आचार संहिता प्रभावी होने के बाद भी पेट्रोल पंपों, हवाई अड्डों और रेलवे स्टेशनों पर प्रधानमंत्री की तस्वीरें अभी भी लगी हुई हैं। जबकि आयोग ने हमारी शिकायत पर इन्हें हटाने का साफ निर्देश दे रखा है।

आरपीएन सिंह ने कहा कि आयोग के निर्देश के बाद भी तस्वीरें पूरी तरह से नहीं हटाए जाने की शिकायत पर चुनाव आयोग ने शुक्रवार देर रात तक इसकी जांच कर कार्रवाई करने की बात कही है। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर टैक्स बढ़ाकर जनता की जेब से पांच साल में लाखों करोड़ रुपये की जो वसूली की है उन्हीं पैसों को इस प्रचार पर खर्च किया है।

प्रधानमंत्री की तस्वीरें हटाने के अलावा कांग्रेस ने चुनाव आयोग से भाजपा नेताओं की ओर से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ दिए जा रहे आपत्तिजनक और अश्लील बयानों को लेकर भी शिकायत की। साथ ही ऐसे बयानों पर आयोग से तत्काल नोटिस देकर कार्रवाई करने की मांग की। इस पर आयोग ने कांग्रेस के दल को बताया कि उसने आपत्तिजनक बयान देने वाले ऐसे नेताओं के वीडियो मंगाए हैं और इसकी जांच की जा रही है। भाजपा के कुछ नेताओं की ओर से सेना और वीर सैनिकों की तस्वीरों को सियासी प्रचार के लिए इस्तेमाल करने के मसले पर उन्होंने कहा कि आयोग ने भरोसा दिया है कि इस मामले में बेहद सख्त कार्रवाई होगी।

Courtesy: NaiDunia