सुबह टिकट बेची और शाम को बंद हो गई एयरलाइन कंपनी, हजारों यात्री फंसे

81

लंदन। आइसलैंड की वॉव एयरलाइन ने अचानक सभी उड़ानों को रद्द कर दिया और सेवा बंद करने की घोषणा कर हर किसी को चौंका दिया। कंपनी आइसलैंड सहित 27 देशों में सेवाएं दे रही थी। इसमें ज्यादातर अमेरिका और यूरोप महाद्वीप के हैं। एयरलाइन के इस फैसले की वजह से यूरोप और उत्तरी अमेरिका जाने वाले करीब 10 हजार यात्री एयरपोर्ट पर फंस गए हैं।

बताया जा रहा है कि सुबह सात बजे तक फ्लाइट के टिकट बिक रहे थे, लेकिन शाम को कंपनी ने अचानक सेवा बंद करने का एलान कर दिया। वॉव एयरलाइन की शुरुआत साल 2012 में हुई थी और अपने कम अंतरराष्ट्रीय किराये की वजह से लोगों को काफी पसंद आ रही थी।

एयरलाइन 12 अमेरिकी शहरों से आइसलैंड और यूरोप के लिए यह कई बार 99 डॉलर (करीब 7000 रुपए) किराया लेती थी। मगर, लगातार हो रहे घाटे के चलते एयरलाइन को चलाना मुश्किल होता जा रहा था। कंपनी पिछले साल वित्तीय संकट में घिर गई थी और नवंबर में आइसलैंड एयर ग्रुप ने इस बजट कैरियर को खरीदने की घोषणा की थी।

मगर, कुछ ही हफ्तों में डील बिगड़ती चली गई और पिछले हफ्ते यह टूट गई। लिहाजा, गुरुवार शाम को वॉव एयरलाइन ने सेवाएं बंद करने की घोषणा कर दी। इसके अलावा कंपनी में काम कर रहे एक हजार कर्मचारियों की नौकरी और उनका भविष्य अंधेरे में है। इस मामले में कंपनी के संस्थापक और मालिक स्कूली मोगेंसन ने कंपनी के कर्मचारियों से माफी मांगी है।

एयरलाइन ने बयान जारी कर कहा कि वॉव एयर ने अपने सभी काम बंद कर दिए हैं। सभी उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। यात्री दूसरी कंपनियों की फ्लाइट की टिकट ले सकते हैं। क्रेडिट कार्ड से पैसे दे चुके यात्री क्रेडिट कार्ड कंपनी से संपर्क करें। जिन्होंने यूरोपीय एजेंटों से टिकटें ली थीं, उनके लिए उनके एजेंट दूसरी उड़ानों की व्यवस्था कर सकते हैं।

यात्रियों को वॉव एयर से मुआवजा भी मिल सकता है। मगर, यह यूरोपीय नियमों के तहत ही होगा। बता दें कि एयरलाइन ने पिछले साल 7 दिसंबर को नई दिल्ली से रेक्जाविक के बीच उड़ान शुरू की थी। लेकिन वह भी बंद हो गई थी।

Courtesy: NaiDunia