Masood Azhar मामले में पाक मीडिया की राय, जैश और मसूद की गतिविधियां हों स्थायी रूप से बंद

87

इस्लामाबाद। आतंकी संगठन जैश-ए-मुहम्मद को सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित किए जाने के बाद पाकिस्तानी मीडिया की प्रतिक्रियाएं गौर करने योग्‍य रहीं। शुक्रवार को स्‍थानीय मीडिया ने सरकार से अनुरोध किया कि मुल्‍क में जैश की गतिविधियां पूरी तरह से बंद की जाएं।

यह भी कहा गया कि जैश सरगना को गतिविधियां जारी रखने की अनुमति न दी जाए। ‘डॉन’ ने संपादकीय में जैश को दक्षिण एशिया का सबसे खतरनाक जिहादी संगठन करार दिया।

इसमें कहा गया कि भले ही कुछ वर्ग इस कदम को भारत की जीत के तौर पर देख रहे हों, लेकिन सच्‍चाई तो यही है कि मसूद और उसके संगठन ने पाकिस्तान के लिए मुश्किलें बढ़ाने के अलावा कुछ भी नहीं किया है।

उसने पाकिस्तान में भी जमकर तबाही मचाई है। ‘एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ ने लिखा है कि चीन ने अपना वीटो पॉवर तभी वापस लिया जब अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस जैसे प्रस्तावकों के साथ बड़े कूटनीतिक समझौते हो गए।

 Courtesy: NaiDunia