सावधान! 5 मार्च के बाद आप नहीं निकाल पाएंगे क्रिप्टोकरंसी से पैसा, ये है वजह

111

भारत में ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म देने वाली कंपनी क्रिप्टो टोकन मार्केटप्लेस BTCXIndia 5 मार्च 2018 से ट्रेडिंग बंद करने जा रहा है.

cryto-currency-image-2

अगर आपने भी Bitcoin जैसी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश किया तो आपको अपना पैसा निकाल लेना चाहिए. क्योंकि 5 मार्च के बाद आप ऐसा नहीं कर पाएंगे. आपको बता दें कि इस साल में अभी तक क्रिप्टोकरंसी बिटक्ववाइन के दाम ऊपरी स्तर से 60 फीसदी तक टूट गए है. वहीं, इस दौरान अन्य करेंसी जैसे रिपल, लाइटकॉइन, पीयरकॉइन, नेमकॉइन, मास्टरकॉइन और प्राइमकॉइन खरीदने वालों को भी 50 फीसदी नुकसान हुआ है. अगली स्लाइड में जानिए 5 मार्च के बाद क्या बदलने वाला है…

cryto-currency-image-3

भारत में ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म देने वाली कंपनी क्रिप्टो टोकन मार्केटप्लेस BTCXIndia 5 मार्च 2018 से ट्रेडिंग बंद करने जा रहा है. अपने ग्राहकों ईमेल भेजकर उसने कहा है कि BTCXIndia ने 1 जनवरी 2018 से जमा नहीं लेने का फैसला किया है. अगली स्लाइड में जानिए आपके पैसों क्या होगा…

btcx-india

इस क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म ने कहा कि 1 जनवरी के बाद के डिपॉजिट्स निवेशकों के बैंक अकाउंट्स में अपने आप वापस हो जाएंगे. जिन्होंने भी BTCXIndia में रजिस्ट्रेशन किया है, उन्हें 4 मार्च तक अपने पैसे निकाल लेने की सलाह दी गई है. वर्ष 2013 में हैदराबाद में लॉन्च BTCXIndia अभी रिपल (XRP) में डील करता है और क्रिप्टो टोकन्स एवं भारतीय रुपये में रियल टाइम ट्रेडिंग की सुविधा मुहैया कराता है. इसी तरह, ETHEXIndia में इथेरियम (ETH) की रियल टाइम ट्रेडिंग होती है.

ethex-india

BTCXIndia ने ईमेल मेसेज में कहा है, ‘BTCXIndia की लॉन्चिंग के चार साल हो गए और दो साल पहले हमने BTCXIndia लॉन्च किया था. इस दौरान हमने 35,000 से ज्यादा ग्राहकों को सेवाएं दीं और रिपल की कीमत 50 गुना जबकि इथेरियम की कीमत 100 गुना बढ़ी. हमने आपके क्रिप्टो को सुरक्षित रखा और बिल्कुल सुरक्षित वातावरण में आपको समान शर्तों पर दूसरों के मुकाबले ट्रेडिंग की सुविधा दी थी. इस दौरान हमने केवाईसी और एएमल के सिवा अन्य टैक्स कानूनों का भी पालन किया. अगली स्लाइड में जानिए आखिर क्यों बंद होगा प्लेटफॉर्म…

cryto-currency-image-1 (1)

BTCXIndia की ओर से भेजे गए ईमेल में हा गया है कि जैसा कि हमने बजट भाषण में सुना कि भारत सरकार क्रिप्टो करंसी ट्रेडिंग को बढ़ावा नहीं दे रही है. यही बात पिछले साल सरकार की कार्रवाइयों से भी स्पष्ट हुई थी. ऐसे में हमारे बिजनस पर बहुत दबाव आ गया. इसलिए हम ऐसी स्थिति में आ गए कि अब हम प्रफेशनल तरीके से इस बिजनेस में नहीं रह सकते.

Courtesy: News18