सारे दिग्गज फेल, अकेले आखिर तक लड़ते रहे विराट, ऑरेंज कैप लेने से भी किया मना

86

विराट कोहली मुंबई के खिलाफ नाबाद 92 रन की पारी के दौरान आईपीएल इतिहास में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए. हालांकि, इसके बावजूद उनकी टीम हार गई. साथ ही मैच के समय ऐसा भी वक्‍त आया जब विराट कोहली अंपायरों पर आगबबूला हो गए.

विराट के गुस्‍से का कारण बना मुंबई इंड‍ियंस के बल्‍लेबाजी के दौरान 19वां ओवर. इस ओवर में बेहद नजदीकी मामले में हार्दिक पांड्या को थर्ड अंपायर ने नॉट आउट करार दिया. साथ ही हार्दिक पांड्या ने इसका पूरा फायदा उठाते हुए अगली 2 गेंदों में 2 शानदार सिक्‍स लगाए. इससे अंपायर पर कोहली का गुस्‍सा 7वें आसमान पर पहुंच गया.

कोहली ने मुंबई की बल्‍लेबाजी खत्‍म होने के बाद भी अंपायर से इस बात पर नाराजगी जाहिर की. कोहली फैसले के बाद बार बार स्‍क्रीन की ओर इशारा कर अंपायर को गलत ठहराते रहे.

कोहली का गुस्‍सा पूरे मैच में बना रहा. शानदार बल्‍लेबाजी करते हुए कोहली ने 92 रन बनाए, हालांकि वे मैच नहीं जीता सके. वे इस बड़ी पारी के साथ इस सीजन में ऑरेंज कैप होल्‍डर भी बन गए. इसके बावजूद कोहली का गुस्‍सा शांत नहीं हुआ.

सेरेमनी के दौरान विराट को जब IPL की ऑरेंज कैप दी गई तो उन्होंने उसे पहनने से इंकार कर दिया. हालांकि, बाद में उसे लिया. ऑरेंज कैप लेते हुए कोहली ने अपना गुस्‍सा जाहिर किया. कोहली ने कहा कि  ”मैं इसे नहीं पहनना चाहता. फिलहाल, इसे फेंक देने का मन कर रहा है और मैं इस पर फोकस करना चाहता हूं कि हमने विकेट कैसे गंवाए”. कोहली का यह गुस्‍सा अंपायर के लिए नहीं बल्‍कि, आरसीबी के बड़े ख‍िलाड़‍ियों के लिए था जो पिच पर उनका साथ देने में नाकाम रहे.

कप्तान कोहली तो एक छोर संभाले अंत तक डटे रहे लेकिन दूसरे छोर से बाकी बल्लेबाजों का आना जाना लगा रहा. नतीजा, ये हुआ कि विराट की लाजवाब पारी भी उनकी टीम को हार से नहीं बचा सकी. इसके साथ ही आरसीबी अंक तालि‍का में 7वें पायदान पर पहुंच गई.

courtesy: aajTak