रोहित ने यो-यो टेस्ट पास करते ही आलोचकों पर साधा निशाना

69

भारतीय वनडे टीम के उपकप्तान रोहित शर्मा ने टीम में शामिल होने के लिए अनिवार्य यो-यो टेस्ट को सफलता पूर्वक पूरा करने के बाद आलोंचको पर निशाना साधा है.

ब्रिटेन दौरे के लिए वनडे टीम के खिलाड़ियों ने 15 जून को यो-यो टेस्ट दिया था, जिसमें रोहित के शामिल नहीं होने पर सवाल उठाए गए थे.

पिछले सप्ताह हुए यो-यो टेस्ट में अंबति रायडू को छोड़कर सभी खिलाड़ी इसमें सफल रहे थे, जिसमें कप्तान विराट कोहली और पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी शामिल थे.

रोहित ने निजी प्रतिबद्धता के कारण बीसीसीआई से 15 जून को इस टेस्ट में भाग नहीं लेने के लिए अनुमति ली थी. बीसीसीआई के महाप्रबंधक (क्रिकेट परिचालन) सबा करीम ने पीटीआई से कहा, ‘रोहित के लिए 15 जून को यो-यो टेस्ट देना अनिवार्य नहीं था क्योंकि उन्होंने पहले से मंजूरी ली थी.’

रोहित ने सोशल मीडिया पर जानकारी दी कि उन्होंने बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में टेस्ट पास कर लिया है. रोहित ने अपनी फिटनेस पर सवाल उठाने वाले मीडिया के एक वर्ग पर निशाना भी साधा.

ICC की FTP में वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप शामिल, टॉप 9 टीमों में होगा टूर्नामेंट

उन्होंने ट्वीट किया, ‘मैं अपना समय कहां और कैसे बिताता हूं इस बारे में किसी को दखल देने का हक नहीं है. जब तक मैं नियमों का पालन करता हूं तब तक मुझे अपने तरीके से समय बिताने का अधिकार है. असल मुद्दों पर चर्चा करिए. कुछ चैनलों को मैं बताना चाहूंगा कि यो-यो टेस्ट में सफल होने के लिए मुझे एक मौका मिला जो आज था.’

इससे पहले बीसीसीआई ने रोहित के यो-यो टेस्ट में क्वालिफाई नहीं करने की स्थिति में टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे को विकल्प के तौर पर तैयार रहने के लिए कहा था.

हाल के दिनो में टेस्ट टीम में शामिल मोहम्मद शमी और वनडे टीम के लिए चुने गए अंबति रायडू के अलावा भारत ए के इंग्लैंड दौरे के लिए चुने संजू सैमसन यो-यो टेस्ट में विफल हो गए थे.

भारतीय टीम ब्रिटेन दौरे का आगाज 27 जून को आयरलैंड के खिलाफ दो टी-20 मैचों की सीरीज से करेगी. सीरीज का दूसरा मैच 29 जून को खेला जाएगा. भारतीय टीम दिल्ली से 23 जून को रवाना होगी.

courtesy:aajtak