कश्मीर: शोपियां में सेना ने आतंकी बेटे को घेरा, खबर सुनते ही पिता की हुई मौत

57

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में मंगलवार सुबह से ही आतंकियों और सेना के जवानों के बीच मुठभेड़ चल रही है. इस एनकाउंटर में सेना ने 2 आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया है जबकि 5-6 आतंकी अभी भी घिरे हुए हैं. बताया जा रहा है कि इनमें एक आतंकी जीनत नाइकू भी शामिल है.

अपने बेटे के फंसे होने की खबर को सुनते ही जीनत के पिता मोहम्मद इशाक नाइकू को हार्ट अटैक आ गया और उनकी मौत हो गई.

जीनत नाइकू शोपियां के मेमंदर गांव का निवासी है, दो महीने पहले ही वह आतंकियों के साथ जुड़ा था. लेकिन जैसे ही अब उसके ट्रैप होने की खबर आई तो ये सुनते ही पिता को कार्डिएक अरेस्ट हो गया. उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन वहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया है.

आपको बता दें कि मंगलवार रात को शुरू हुए इस ऑपरेशन में करीब 5-6 आतंकी एक घर में छुपे हैं. ये आतंकी शोपियां के एक घर में हैं. सुरक्षा बल आसपास के घरों से लोगों को सुरक्षित स्थान पर ले जा रहे हैं. स्थानीय लोगों की पत्थरबाजी पर नियंत्रण पा लिया गया है.

सुरक्षा बलों ने इन्हें घेरा हुआ है. यहां पर सेना की 34 राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीएफ और पुलिस बल के जवान तैनात है. इन्होंने शोपियां में बेमनीपुरा इलाके की घेराबंदी कर ली है.

संयुक्त सुरक्षा बलों की घेराबंदी और फायरिंग के बाद आतंकियों की ओर से भी फायरिंग की गई. इसमें दो जवान घायल हो गए. तड़के गोलीबारी से इस इलाके में सुबह ही गोलियों की आवाज गूंजने लगी.

स्थानीय पुलिस अधिकारी ने बताया कि इलाके में पांच-छह आतंकियों के छिपे होने का शक है. उन्होंने बताया कि इस गांव में आतंकियों के छिपे होने की पुख्ता खुफिया जानकारी मिली थी . इसके बाद इलाके को घेरकर सर्च ऑपरेशन चलाया गया.

courtesy…aajtak