मिशन 2019: ममता के गढ़ में आज मोदी की किसान रैली, 22 सीटों पर नजर

50

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को पश्चिम बंगाल के मिदनापुर शहर में एक रैली को संबोधित करेंगे. इस दौरान वह हाल ही में खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाए जाने के केंद्र के फैसले के बारे में लोगों को जानकारी भी देंगे. उनकी यह रैली मिदनापुर कॉलेज ग्राउंड में दोपहर बाद होगी. यह प्रधानमंत्री का राज्य का इस साल का पहला दौरा होगा.

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने कहा, यह एक ऐतिहासिक सभा होने जा रही है. मोदी की आगामी यात्रा ने पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं के बीच बहुत उत्साह पैदा किया है. मोदी दोपहर करीब 12.30 बजे मिदनापुर पहुंचेंगे और सीधे रैली स्थल जाएंगे.

बंगाल: इतना बढ़ा बीजेपी का ग्राफ, क्या 2019 में पूरा होगा टारगेट?

केंद्र द्वारा 14 खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाए जाने का फैसले का स्वागत करते हुए सिन्हा ने कहा कि इससे देशभर के किसानों को फायदा होगा. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ‘मिदनापुर में प्रधानमंत्री मोदी की रैली यह बताती है कि लोकसभा चुनावों के लिए बंगाल हमारे सर्वोच्च प्राथमिकता वाले राज्यों में से एक है.’ उन्होंने कहा, ‘हम न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को सम्मानित करना चाहते हैं. हमें उम्मीद है कि मोदी न सिर्फ किसानों के उत्पीड़न को लेकर तृणमूल कांग्रेस की  आलोचना करेंगे बल्कि किसानों की समस्याओं को भी रेखांकित करेंगे.’

इस बीच, बीजेपी के नेतृत्व ने सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वह निजी बस संचालकों को सोमवार को होने वाली रैली में बीजेपी कार्यकर्ताओं को साधन नहीं मुहैया कराने की धमकी दे रही है.

बंगाल में बीजेपी की उम्मीदें

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की 29 जून को पुरुलिया जिले में हुई जनसभा के महज 17 दिन बाद ही मिदनापुर में प्रधानमंत्री की यह रैली हो रही है. शाह ने अपनी रैली में दावा किया था कि उनकी पार्टी बंगाल में 42 लोकसभा सीटों में से 22 से अधिक पर जीत दर्ज करेगी. भगवा पार्टी ने हाल ही में पश्चिम बंगाल के विभिन्न जिलों में अपनी स्थिति मजबूत की है और राज्य में मुख्य विपक्षी दल के तौर पर उभरी है और राज्य के हाल में हुये पंचायत चुनावों में उपचुनावों में वह मजबूत बनकर उभरी है.courtesy….aajtak